AdSense test ad

"घी का सही उपयोग कैसे करे" || How to use ghee properly ?




जानकारी :-
दोस्तों हमारे खान पान में घी का इस्तेमाल पुराने समय से किया जाता आ रहा है कुछ लोगों को घी खाना पसंद होता है लेकिन कुछ लोग घी का सेवन करना सही नहीं समझते!

परन्तु घी नहीं खाने का निर्णय हर नज़रिये से गलत ही होता है क्यूंकि घी खाने से जो लाभ मिलते है वह किसी दूसरी चीज़ के ज़रिये नहीं मिल सकते  ! आपने देखा होगा गाँव में रहने वाले लोग और खान पान में पुराने समय से चलते आ रहे नियमो का पालन करने वाले लोग लम्बी उम्र तक स्वथ रहते है साथ ही मोटापा और दिल की बीमारियां कभी नहीं होती !

क्यूंकि हमारी संस्कृति में भी घी को बहुत मान्यता दी गई है और इसके मदद से कई तरह की बीमारियों को पूरी तरह से ठीक किया जा सकता है !

लेकिन किया घी खाने से वजन और कोलेस्ट्रॉल बढ़ता है किया इसके हमारे शरीर पर कुछ बुरे प्रभाव भी हो सकते है जी हाँ ऐसा होना भी पूरी तरह संभव है !

घी का सेवन सही मात्रा में और सही समय के अनुसार किया जाए तो यह हमारे हड्डियों, बालों, पेट और त्वचा के लिए चमत्कारी रूप से फायदे मंद होता है लेकिन इसके लिए घी का शुद्ध होना भी ज़रूरी है !

आइये  जानते है घी का सेवन हमे किस तरह करना चाहिए हमे इससे  किया किया लाभ मिलते है और किन लोगो को घी का सेवन नहीं करना चाहिए !

घी की तुलना अगर खाना पकाने वाले किसी भी तेल से की जाए तो यह उनके मुकाबले ज्यादा  फायदे मंद होता है लेकिन आज ज्यादा तर लोग ऐसा नहीं सोचते !

ज्यादा घी खाना हमारे सेहत के लिए बुरा होता होता है और इससे हमे कई तरह के नुक्सान भी होते है इस तरह की बातों को लोगों के बिच जिन्होंने सबसे पहले फैलाया वह है बड़ी बड़ी विदेशी रिफाइन तेल बनाने वाली कम्पनियाँ मुनाफा कामने के लिए अपने तेल को दिल और स्वास्थ के लिए अच्छा बता कर घी की बुराई करने से उन्हें फायदा मिलता गया और लोगों को घी के प्रति सोच को पूरी तरह बदलती गई ! जिसके चलते  आज ज्यादा तर लोग घी को मोटापा और केलोस्ट्रोल बढ़ाने वाला समझते है और इसका सेवन से भी कतराते है जबकि यह बात पूरी तरह सच नहीं !

घी कई तरह के पोषक तत्व से भरपूर होता है और इसमें सबसे  ज्यादा फायदे मंद गाय का घी होता है क्यूंकि गाय का घी हमारे शरीर में केलोस्ट्रोल बढ़ाता नहीं बल्कि घटाता है  घी के अंदर फाइबर की मात्रा  अधिक  होती है और इसमें मौजूद चिकनाई हमारे  पेट और आंतो में जमा गंदगी को बहार निकालने का काम करती है  जिसकी मदद से शरीर में जमी ज़िद्दी से ज़िद्दी चर्भी भी समय के साथ साथ कम होती जाती है तेल के मुकाबले घी को  पचना ज्यादा आसान होता है और जितना जल्दी यह पचता है उतना ही तेजी से  हमारे खून और दूसरे अंगो में भी पहुँचता है इसलिए इसका असर हमारे शरीर के साथ साथ आँखों और दिमाग पर भी होता है !

रोज़ाना घी खाने वाले वयक्ति की सोचने और समझने शक्ति दूसरे लोगों के मुकाबले ज्यादा तेज़ होती है इसलिए पढाई करने वाले विध्यार्ती और बढ़ती  उम्र वाले बच्चों को इसका सेवन ज़रूर करना चाहिए !

घी के अंदर Antibacterial और Antiviral  होता है जो की हमारे इम्यून सिस्टम को मजबूत बनाती है ऐसा  में सेवन करने से  हम हर मौसम में होने वाली तरह तरह की बिमारी और इन्फेक्शन से दूर रहते है और इम्यूनिटी मजबूत होने से कोई भी बिमारी होने पर हमारा शरीर उस बिमारी को कम समय में ठीक कर देता है !

हमारी हड्डियों और जोड़ों के बिच में चिकना पधार्त पाया जाता है जो की हमारी हड्डियों के लकीरे पन और जोड़ो के मूवमेंट के लिए बहुत ज़रूरी होता है अगर शरीर में इसकी मात्रा कम हो जाती है तो जोड़ो में से आवाज़ आना और दर्द होना शुरू हो जाता है ज्यादा स्थितिओं में Arthritis बीमारियां होने की यही वजह  होती है जिन्हो को जोड़ो में दर्द की समस्या होती है उन्हें हमेशा घी खाने की सलाह दी जाती है क्यूंकि घी से जोड़ो के बिच में पाए जाने वाली चिकनाई की मात्रा बढ़ती है और हड्डिया भी मजबूत होती  है !

कहा जाता है की घी खाने वाला वयक्ति बुढ़ापे में भी दौड़ लगाने में शक्षम होता है  कब्ज पेट साफ़ नहीं होने  जुड़ी किसी भी समस्या रहती है तो ऐसे में अपने लिए रोज़ाना डाइट में घी को ज़रूर शामिल करे क्यूंकि घी हमारे पेट के लिए वरदान की तरह है जिसके इस्तेमाल से पेट से जुडी हर तरह की समस्या को ठीक किया जा सकता है हमारे शरीर को ताकत  प्रदान करने के साथ साथ घी हमारी   सुंदरता को बढ़ाने  के लिए भी बहुत अधिक  फायेदे मंद साबित  होता है इसमें मौजूद Anti Oxygen तत्व हमारी त्वचा को प्राकर्तिक चमक  प्रदान करते है और साथ ही बालों के झड़ने और पकने की समस्या में घी का सेवन करने से सुधार आने लगता है पुरषो और महिलाओं में किसी भी तरह की सेक्सुअल परेशानी को भी दूर करता है !

चलिए जान लेते घी का सेवन किस तरह करना चाहिए :-
सबसे पहले तो कोशिश करे खाने में गाय का घी ही इस्तेमाल करे क्यूंकि घी अपने आप में एक शुद्ध फैट है और गाय का घी ही सबसे ज्यादा फायदे मंद होता है घी के अंदर प्रोटीन, कार्बो हाइड्रेट, सोडियम, शुगर और फैटी एसिड के साथ साथ फाइबर भी मौजूद होता है  !

एक सामन्य वयक्ति एक दिन में 3 से 4 चम्मच  घी का सेवन कर सकता है !
घी का सेवन सब्जी रोटी दाल में ऊपर से मिला कर किया जा सकता है !
और साथ ही खाना बनाने या तलने  के लिए तेल की जगह घी का भी इस्तेमाल किया जा सकता है !

कहा जाता है की रात के मुकाबले दिन के समय घी ज्यादा तेज़ी से पचता है और  शरीर में पूरी तरह से Observe हो जाता है इसलिए कोशिश करे घी का ज्यादा मात्रा में सेवन दिन में ही करे !

रात के समय अगर घी खाना हो तो इसकी मात्रा को थोड़ा काम ही रखे घी हमारी सेहत के लिए चाहे जितना अच्छा हो लेकिन घी से बनी मिठाइओं का सेवन कम ही करना चाहिए !

हमारे देश में बनने वाले तरह तरह के स्वादिस्ट मीठे वयंजनो में चीनी कूट कूट कर भरी होती है जो की हर  हाल में हमारे सेहत के लिए ठीक नहीं है फिर चाहे शुद्ध देसी घी द्वारा निर्मित क्यों ना लिखा हो कोशिश करे मीठी चीज़े कम ही खाये !

जिन लोगो को दूध या दूध से बनी दूसरी चीज़े जैसे की दही छांछ पनीर आदि से एलर्जी है वह लोग भी घी का सेवन कर सकते है क्यूंकि घी पूरी तरह से लेक्टोस फ्री होता है !

तो दोस्तों अगर आप घी का सेवन नहीं करते है तो इससे जुड़े अध्भुत फायदे को प्राप्त करने के लिए आज ही घी का सेवन करना शुरू कर दे 

Post a Comment

0 Comments