AdSense test ad

"भाग्यशाली और बदकिस्मत लोगों में अंतर" || Lucky and Unlucky People !!







जानकारी :-

किया आपको भी लगता है कुछ लोग ज्यादा Lucky यानी ( भाग्यशाली ) होते है और आप Unlucky यानी ( बदकिस्मत ) हो ! तो भाई आपको फिर से सोचने की ज़रूरत है ऑथर र्रिचड वाइजमैन अपनी बुक The Lucky Factory  में कहते है की लोग अपनी अच्छी और बुरी किस्मत खुद बनाते है ! ऐसा वोह क्यों कहते है क्यूंकि उन्होंने स्टडी की है लोगों की ज़िन्दगी में luck फेक्टर पर ! अपनी इस स्टडी बारे में यह कहते है यह सिर्फ एक स्टडी नहीं है बल्कि यह एक साइंटिफिक रिसर्च है !

तो आइये देखते है की उनके साइंटिफिक रिसर्च में से कौन कौन सी बाते सामने आई है जो लोगों को Lucky यानी ( भाग्यशाली ) और Unlucky यानी ( बदकिस्मत ) बनाती है :-

1 :- नई Opportunities यानि ( अवसरों, मौकों ) को पहचनना 
जो लोग Lucky यानी ( भाग्यशाली ) होते है उनमे यह खासियत होती है की वोह नई Opportunities यानि ( अवसरों, मौकों ) को ना सिर्फ पहचान लेते है बल्कि सही समय पर कैप्चर भी कर लेते है और जब उन्हें आगे बढ़ने का नया मौका नज़र आता है तो वो हसी ख़ुशी उसी डायरेक्शन में चल पड़ते है !

ऑथर कहते है की Unlucky यानी ( बदकिस्मत ) लोग इससे बिलकुल उल्टा करते है यह लोग अपनी एक ही रट लगाए रखते है अगर कोई नई  Opportunities यानि ( अवसर, मौका मिलना ) आती भी है तो यह लोग अपने डर की वजह से उसका फायदा नहीं उठा पाते !

2 :- Lucky यानी ( भाग्यशाली ) लोग अपनी instinct यानी ( स्वाभाविक ) की सुनते है 
नई Opportunities यानि ( अवसरों, मौका मिलना ) का फायदा उठाना इस बात पर निर्भर करता है की आप अपने दिल की या अपनी  instinct यानी ( स्वाभाविक ) की सुनते हो या नहीं Lucky यानी ( भाग्यशाली ) लोग अपनी  instinct यानी ( स्वाभाविक ) पर अमल करने से घबराते नहीं ! इनको अगर कोई चीज़ अच्छी लगती है तो यह छलांग लगाकर उसमे कूद पड़ते है इस तरह वो दूसरों से आगे निकल जाते है !

जब की Unlucky यानी ( बदकिस्मत ) लोगों की यह आदत होती है की वोह चीज़ो की ज़रूरत से ज्यादा सोचने लग जाते है और सच्चाई से मुँह मोड़ लेते है यही आदत उन्हें काफी नुक्सान पहुंचाती है ऑथर कहते है की इस तरह के लोग चीज़ो को समझने में देरी कर दते है जिससे उन्हें नुक्सान होता है 


3 :- कामियाबी की उम्मीद करना 
Lucky यानी ( भाग्यशाली ) लोग जो भी काम करते है उन्हें उम्मीद होती है की वोह उसमे कामियाब हो जाएंगे ! इस तरह के जो लोग खुद पर यकीन करते है की में एक दिन कामियाबी हासिल कर लूंगा ! और यही वह चीज़ है जो  उनको कामियाब बनाती है ! ऑथर कहते है की कई बार ऐसा होना ज़रूरी नहीं की जो आप चाहते हो वोह मिले ! आप खुद पर यकीन करके आगे बढ़ते हो और आपको वह चीज़ हासिल नहीं होती ! लेकिन ऐसे लोग जो खुद पर यकीन करते है उन्हें मुश्किल वक़्त में सामना करने में मदद करता है और वोह उस मुश्किल वक़्त से गुजर जाते है Lucky यानी ( भाग्यशाली ) लोगो का यह सोचना उनको मजबूत करता है और साथ ही उनका दसूरे लोग भी उनकी तरफ आकर्षित होते है

जब की दूसरी तरह Unlucky यानी ( बदकिस्मत ) लोग कभी भी अच्छे परिणाम की उम्मीद नहीं करते ! जैसे इनके प्रसिद्द बातचित बता देता हूँ "मेरा तो कुछ हो ही नहीं सकता",  "मेरी तो किस्मत ही ख़राब है",  "मेरे साथ ही क्यों बुरा होता है" ,  "में वय्पारी बनना चाहता हु पर Competition बहुत है वय्पार चलेगा नहीं" , "Gym  तो चला जाऊं पर कोई साथ जाने वाला नहीं है"  हमेशा ऐसा नकारात्मक सोचने की वजह से होता यह है की लोग उनसे दूर चले जाते है की कौन इस रोतडू से मिले अपना भी दिन ख़राब हो जाता है इसकी उदास बाते सुनने में !

सबसे ज़रूरी Positive Attitude ही है यानी सकारात्मक सोचन अच्छा सोचना हर इंसान के साथ बुरी चीज़े होती है लेकिन Lucky यानी ( भाग्यशाली ) लोग इस तरह के अनुभव से हार नहीं मानते बल्कि एक नए जज़्बे के साथ सामने आते है जिसका नतीजा यह होता है की उनकी ख़राब किस्मत भी अच्छी किस्मत में बदल जाती है !

दूसरी तरफ वोह लोग जो खुद को  Unlucky यानी ( बदकिस्मत ) मानते है वोह छोटी सी परेशानी से भी हिम्मत हार जाते है यह लोग यकीन कर लेते है की अपना Future बर्बाद है इसलिए कोशिश करने की कोई ज़रूरत ही नहीं है !

अब दो सवाल में आपसे करना चाहता हूँ ?
1 :- किया आप में Unlucky यानी ( बदकिस्मत ) लोगों वाली आदतें है ?
है की नहीं !
अगर है तो !
सवाल नंबर दो आता है
2 :- किया आप Lucky यानी ( भाग्यशाली ) बनना चाहते हो ?
हाँ जी क्यों नहीं
Lucky यानी ( भाग्यशाली ) कौन नहीं बनना चाहेगा !

तो में आपको बता दूँ  की आपकी यह खुश किस्मती है की खुश किस्मत बनना भी मुमकिन है !
ऑथर र्रिचड वाइजमैन कहते है की ऐसे तरीके मौजूद है जिनपे अमल करके कोई भी इंसान Lucky यानी ( भाग्यशाली ) बन सकता है ! Very Good

तो इनमे से एक तरीका जो सही तर्कों का बाप है वोह यह है की आप आज  से ही एक Luck Diary बनाओ जिसमे आप सिर्फ  वोह अच्छी बाते लिखोगे जो आपके साथ हुई है भले ही वोह मेरा Blog में आने वाला आर्टिकल की ही बात हो या कोई बड़ी बात जैसे की आज  रात आप करोड़ो गरीबों की तरह भूके नहीं सोये ! हर अच्छी बात उस Diary में लिख दो ऐसे करने से होगा यह आपके दिमाग में नकारात्मक सोच कम होना शुरू हो जाएंगी और आपके ज़िन्दगी के सकारात्मक सोच से देखने का मौका मिलेगा !

इसमें कोई शक नहीं है की हमारी ज़िन्दगी में ऐसी कई चीज़े होती है जिस पर हमारा कोई कंट्रोल नहीं होता जैसे हादसा हो जाना या कोई दुर्घटना हो जाना लेकिन इस तरह  की Diary बनाने से यह फायदा होता है की हम एक मजबूत इंसान बन जाते है और कोई भी परिस्थिति का मुकाबला अच्छे से कर पाते है  !

ऑथर कहते है की सोच में परिवर्तन जल्दी नहीं होगा लेकिन कुछ समय बाद लोगों पर इसका सकारात्मक असर लोगों दिखाई देने लग जाएगा !

तो इस नए साल में एक Luck डायरी बनाना है और साल भर उसमे सकरात्मक बाते लिखनी ही लिखनी है जो आपके साथ रोज़  होती है ठीक है एक Diary खरीद लो आती है 100 150rs में इतना तो खर्च कर ही सकते हो अपने लिए ! इसके साथ ही अब अलविदा लेता हूँ नेक्स्ट आर्टिकल के साथ फिर आऊंगा कुछ दिलचप्स बाते लेकर !
Happy  New  Year !
बाकी के समय अपना नाम करिये और माता पिता का नाम करिये !

शब्बा खैर ! 



Post a Comment

0 Comments